गुरु पूर्णिमा: श्रद्धालुओं ने वाराणसी,पटना,हरिद्वार में गंगा में लगाई आस्था की डुबकी,देखें विडियो..

  • सीएम योगी गोरखनाथ मंदिर पहुंच अपने गुरु की आरती की..

  • हरिद्वार में कांवड़ियों को बॉर्डर से ही वापस लौटाया जाएगा, कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कांवड़ यात्रा को प्रतिबंधित किया..

  • बिहार की राजधानी पटना में स्थित गांधी घाट पर स्नान के किए लोगों का उमड़ा सैलाब, मनेर घाट पर दो डूबे..

नई दिल्ली : देश में हर धर्म के त्योहारों को धूमधाम से मनाने की परंपरा है । मान्यता है कि गुरु पूर्णिमा के दिन ही वेद व्यास जी का जन्म हुआ था । इस दिन को देश में बेहद श्रद्धा भाव से मनाया जाता है । यूं तो हर पूर्णिमा का महत्व बहुत अधिक होता है लेकिन गुरु पूर्णिमा जिसे व्यास पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है, इसे बेहद फलदायी माना जाता है। बता दें कि व्यास जी को प्रथम गुरु माना जाता है ।

हिंदू पंचांग के चौथे महीने आषाढ़ की पूर्णिमा के दिन ही गुरु पूर्णिमा मनाया जाता है । कहा जाता है कि पहली बार मानव जाति को चारों वेदों का ज्ञान वेद व्यास जी ने ही दिया था । साल 2021 में गुरु पूर्णिमा का मुहूर्त शुक्रवार 23 जुलाई, सुबह साढ़े 10 बजे से लेकर शनिवार 24 जुलाई, सुबह 8 बजकर 6 मिनट तक रहेगा ।

महाभारत काल से ही देश में गुरुओं का स्थान सबसे ऊंचा रहा है । शिष्य को अंधकार से निकालकर सही मार्ग पर ले जाते हैं शिक्षक, गुरुओं को सम्मान देने के लिए गुरू पूर्णिमा मनाया जाता है ।

 

यूपी के सीएम योगी ने की अपने गुरु की आरती –

आज गुरु पूर्णिमा पर भाजपा कार्यकर्ता अपने गुरुओं के शरण में दिखाई दे रहे हैं । भाजपा का हर नेता, जन प्रतिनिधि और कार्यकर्ता आज मठ-मंदिरों में पहुंचा है और साधु-संतों को अंगवस्त्र और नारियल देकर सम्मानित कर रहे हैं । साथ ही जल्दी है होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत के लिए आशीर्वाद ले रहे हैं । इसी के साथ सीएम योगी आज गोरखनाथ मंदिर में पहुंचे और अपने गुरु की आरती की । 

उत्तर प्रदेश के अलग अलग शहरों में गंगा में आस्था की डुबकी लगाने कई श्रद्धालु पहुंचे –

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर कन्नौज की गंगा में आस्था की डुबकी लगाने कई श्रद्धालु पहुंचे । पुलिस रोक के बावजूद यहां लोगों ने गंगा स्नान किया । बता दें, गुरु पूर्णिमा के पर्व पर स्नान और दान करने का बड़ा ही महत्व होता है । इसी पर्व को देखते हुए कन्नौज के महादेवी घाट पर श्रद्धालुओं ने शनिवार की सुबह गंगा से ही भीड़ लगाना शुरू कर दी ।

वाराणसी के घाट भी श्रद्धालुओं से भरे –

उत्तर प्रदेश के बनारस में भी गंगा घाट पर आज श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी है । रोक और कोरोना पाबंदियों के बाद भी भक्त मंदिरों के दर्शन और गंगा स्नान के लिए सुबह से भीड़ लगाए खडे़ हैं ।

अमरोहा के तिगरी गंगा धाम पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

अमरोहा के तिगरी गंगा धाम पर आज दिन निकलते ही श्रद्धालुओं ने गुरु पूर्णिमा पर आस्था की डुबकी लगाई । बता दें कि अमरोहा जनपद के गजरौला क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले तिगरी गंगा धाम पर स्नान करने के लिए गुरु पूर्णिमा पर शनिवार की सुबह से ही भारी मात्रा में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी ।

वीकेंड लॉकडाउन की वजह से अमरोहा में दिखी कम भीड़ –

पुरोहितों ने बताया कि शनिवार का दिन लॉक डाउन का होता है, इसलिए भीड़ कम है । अगर यह पर्व शनिवार के बजाय सोमवार को पड़ता तो नजारा कुछ और होता । भीड़ इससे कहीं ज्यादा होती ।

सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन सजग –

प्रशासन की ओर से पहले से ही गंगा के किनारे सुरक्षा घेरा बना दिया गया था, जिसके अंदर ही सभी ने स्नान किया । गंगा स्नान पर रोक होने के बावजूद पुलिस बैरिकेडिंग को तोड़कर श्रद्धालु महादेवी घाट पहुंचे और स्नान करते नजर आए । जिसके पश्चात कन्नौज के प्रसिद्ध मंदिरों में जाकर श्रद्धालु दर्शन कर रहे हैं ।

हरिद्वार में कांवड़ियों को बॉर्डर से ही वापस लौटाया जाएगा –

कल से श्रावण मास शुरू हो जाएगा । प्रदेश सरकार कांवड़ यात्रा स्थगित कर ही चुकी है। जिले में कांविड़यों की आमद न हो इसको लेकर पुलिस ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है । आज शनिवार से जिले के सभी बॉर्डर पर सख्ती हो गई है । वहीं आज होने वाले गुरु पूर्णिमा स्नान पर्व को लेकर भी सख्ती की जा रही है ।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कांवड़ यात्रा को प्रतिबंधित कर दिया है । ऐसे में कांविडए जिले में प्रवेश न करें । उनके लिए रणनीति तैयार की गई है । कांवड़ियों को बॉर्डर से ही वापस लौटाया जाएगा । वहीं ट्रेनों व बसों में भी सख्ती की जाएगी । इसके अलावा जिले के सभी बॉर्डर को आज से सील कर दिया गया है ।

धर्मनगरी में आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथलि अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि 900 से अधिक पुलिसकर्मी जिले के बॉर्डर, गंगा घाटों व अन्य सार्वजनिक जगहों पर तैनात किए गए हैं । इसमें पीएसी की भी 10 कंपनी हैं 

उन्होंने बताया कि हरिद्वार-नजीबाबाद चिड़ियापुर बॉर्डर पर एसआई 1, आरक्षी 8 व एक प्लाटून पीएसी की लगाई गई है । वहीं नारसन बॉर्डर पर दिन-रात में 4 एसआई, 21 पुलिसकर्मी, व एक प्लाटून पीएसी की तैनात की गई है। इसके साथ ही मंडावर में 4 एसआई, 13 पुलिसकर्मी, व पीएसी का डेढ़ प्लाटून तैनात है ।

काली नदी पुल पर 2 एसआई, 14 पुलिसकर्मी, व डेढ़ प्लाटून पीएसी लगाई गई है । भूपतवाला में 4 एसआई, 9 पुलिसकर्मी, व एक प्लाटून पीएसी लगाई गई है । वहीं पुरकाजी में खानपुर बॉर्डर पर 2 एसआई, 8 पुलिसकर्मी व पीएसी की एक प्लाटून तैनात है ।

बॉर्डर से लौटाए गए कांवड़िए –

शुक्रवार को श्यामपुर बॉर्डर से कांवड़ियों के पांच वाहन लौटाए गए हैं । नारसन, चिड़ियापुर, श्यामपुर, भगवानपुर से 120 वाहनों को वापस लौटाया गया। ये लोग हरिद्वार आ रहे थे और इनके पास आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट नहीं थी । बॉर्डर पर जब वाहन स्वामियों से टेस्ट करवाने के लिए कहा गया तो उन लोगों ने मना कर दिया । एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि कांवड़ियों के सीमा पर प्रवेश करने पर उनके खिलाफ आपदा अधिनियम का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा ।

बिहार की राजधानी पटना में स्थित गांधी घाट पर स्नान के किए लोगों का उमड़ा सैलाब –

कार्तिक पर्णिमा पर पटना के गांधी घाट पर लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी, पूजा-अर्चना करते नजर आए । देशभर में गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाया जा रहा है । गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर लोग पवित्र नदियों में स्नान कर रहे हैं । बिहार की राजधानी पटना में स्थित गांधी घाट पर लोगों का सैलाब उमड़ा और लोगों ने आस्था की डुबकी लगाई. इसके साथ ही लोग गुरु पूर्णिमा की पूजा करते नजर आए ।

पटना जिले के मनेर थाना क्षेत्र के शेरपुर गंगा घाट पर स्नान के दौरान दो डूबे –

शनिवार की सुबह गुरु पूर्णिमा के अवसर पर गंगा स्नान करने के दौरान दो लोग गंगा में डूब गये । घटना पटना जिले के मनेर थाना क्षेत्र के शेरपुर गंगा घाट की बताई जा रही है । घटना के बारे में जैसे ही स्थानीय लोगों को पता चला वैसे ही लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई । बड़ी संख्या में ग्रामीणों और नाविकों की मदद से दोनों की तलाश की जा रही है । आनन-फानन में मामले की जानकारी पुलिस को दी गई जिसके बाद NDRF और गोताखोरों की मदद से दोनों की खोजबीन में जुटी है । मनेर थानाध्यक्ष ने इस हादसे की पुष्टि की है ।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

We are a non-profit organization, please Support us to keep our journalism pressure free. With your financial support, we can work more effectively and independently.
₹20
₹200
₹2400
Keshav Jha
नमस्कार, मै केशव झा, स्वतंत्र पत्रकार और लेखक आपसे गुजारिश करता हु कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के लिए, सुझाव दें। इस खबर, लेख में विचार मेरे अपने है। मेरा उदेश्य आप तक सच पहुंचाना है। द हरीशचंद्र पर मेरी सभी सेवाएँ निशुल्क है। धन्यवाद।