बदले रीट परीक्षा की तारीख, जैन समाज ने एसडीएम को दिया ज्ञापन

भीलवाड़ा। गुरुवार को बापूनगर श्रीश्वेतांबर स्थानकवासी जैन श्रावक समिति संघ, श्री पार्श्वनाथ नवयुवक मंडल सेवा समिति एवं श्री चंदनबाला महिला मंडल के संयुक्त तत्वावधान में जैन समाज ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और शिक्षा मंत्री गोविंदसिंह डोटासरा के नाम भीलवाड़ा उपखण्ड अधिकारी ओम प्रभा को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में इस वर्ष 25 अप्रैल को महावीर जयंती पर रीट परीक्षा आयोजन का विरोध करते हुए तारीख में बदलाव की मांग की गई। ज्ञापन देने वालो में श्रीश्वेतांबर स्थानकवासी जैन श्रावक समिति संघ के संरक्षक लादूलाल बोहरा, अध्यक्ष चंदनमल संचेती, मंत्री अनिल विशलोत, नवयुवक मंडल के संरक्षक कमलेश मुणोत, अध्यक्ष रतन संचेती, मंत्री कुलदीप गुगलिया, मनोज बाफना ज्ञान चंद श्रीश्रीमाल, नीलेश कांठेड़, राजू सेठिया, दर्शन तांतेड़ आदि शामिल थे। ज्ञापन में बताया गया कि श्रीभगवान महावीर स्वामी का जन्म कल्याणक महोत्सव 25 अप्रेल के दिन राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर द्वारा राजस्थान शिक्षक भर्ती पात्रता परीक्षा-रीट की तिथि तय की गई है। इसके विरोध में भीलवाड़ा में भी जैन समाज आंदोलन की राह पर है। सरकार के इस निर्णय को जैन समाज की भावनाएं आहत करने वाला बताते हुए तत्काल तारीखों में बदलाव की मांग की गई। ज्ञापन में कहा कि जैन समाज हमेशा अहिंसा व सर्वधर्म समभाव में विश्वास रखते है लेकिन उनके आराध्य भगवान महावीर के जन्म कल्याणक के अवसर पर इस तरह की परीक्षा रखने से समाजजनों की आस्था से खिलवाड़ किया गया है। समस्त जैन समाज व भगवान महावीर में आस्था रखने वाले सभी आराधकों के लिए ये वर्ष का सबसे महत्वपूर्ण दिन होता है। जैन समाज के लोग उत्साह से इस पर्व को मनाते है। ऐसे में इस दिन रीट परीक्षा रखी गई है जिसमें 16 लाख से अधिक अभ्यर्थी शामिल होने है। परीक्षा लेने के लिए समाज के शिक्षक व अन्य सरकारी कर्मचारियों-अधिकारियों को भी सेवाएं देनी होगी। शिष्टमंडल ने बताया कि भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव-महावीर जयंति के रूप में राष्ट्रीय सार्वजनिक अवकाश भी होता है। ऐसे में महावीर जयंति पर रीट परीक्षा की तिथि तय करना समाज की आस्थाओं से खिलवाड़ एवं भावनाओं को आहत करने वाला है। इस दिन परीक्षा होने पर हजारों जैन अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल होने से वंचित हो सकते है या उन्हें वर्ष में एक बार आने वाले भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव से वंचित रहना पड़ेगा। ज्ञापन में विश्वास जताया गया कि मुख्यमंत्री समाज की मांग पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए रीट परीक्षा तिथि में बदलाव का आदेश प्रदान करेंगे। समाज के लोगो ने ज्ञापन देने से पूर्व कलक्ट्रेट में प्रदर्शन भी किया।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

We are a non-profit organization, please Support us to keep our journalism pressure free. With your financial support, we can work more effectively and independently.
₹20
₹200
₹2400
मोहम्मद दिलशाद खान
नमस्कार, पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के लिए, सुझाव दें। आप Whatsapp पर सीधे इस खबर के लेखक / पत्रकार से भी जुड़ सकते है। धन्यवाद।