कृष्ण गोपाल कालेड़ा ट्रस्ट ने किया जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक का अभिनन्दन परबतपुरा स्थित ट्रस्ट की फ

अजमेर। विख्यात आयुर्वेदिक संस्थान कृष्ण गोपाल कालेड़ा ट्रस्ट ने आज जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित एवं पुलिस अधीक्षक जगदीश चंद्र शर्मा का अभिनन्दन किया।

कृष्ण गोपाल आयुर्वेद भवन (धर्मार्थ ट्रस्ट) की ओर से परबतपुरा स्थित फैक्ट्री में सम्मान समारोह में जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने कहा कि कालेड़ा ट्रस्ट द्वारा तैयार उत्पाद गुणवत्तापूर्ण हैं। कोरोनाकाल में जब लोगों को इम्युनिटी बढाने की आवश्यकता है, तो ट्रस्ट यह काम बखूबी कर रहा है। लोगों को मांग के अनुरूप आयुर्वेद के उत्पाद पूरी गुणवत्ता के साथ उपलब्ध कराए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट के उत्पादों को किसी ब्राण्डिंग और प्रचार-प्रसार की आवश्यकता नहीं है, वह अपनी क्वालिटी के दम पर बिकते हैं। कलक्टर श्री राजपुरोहित ने ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री दीनबंधु चौधरी का आभार व्यक्त किया कि उनके मार्गदर्शन में ट्रस्ट धर्मास्थ के मानव सेवा के विभिन्न कार्य कर रहा है। उन्होंने ट्रस्ट के विकास के लिए हर संभव सहयोग देने का आश्वासन दिया।

जिला पुलिस अधीक्षक जगदीश चन्द्र शर्मा ने कहा कि कालेडा के उत्पादों की सबसे बडी विशेषता है उत्पादों की गुणवत्ता है। कालेडा के उत्पाद विश्वसनीय और गुणवत्तापूर्ण है। ट्रस्ट की ओर से 375 तरह की दवाईयां बनाई जा रही हैं। साथ ही एक 70 बिस्तर का आयुर्वेदिक अस्पताल का संचालन धर्मार्थ रूप से किया जा रहा है। यह एक अनुकरणीय उदाहरण है। साथ ही सच्ची समाज सेवा है। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट के अध्यक्ष के रूप में दीनबंधु चौधरी ने अपनी उल्लेखनीय सेवाएं दी है।

इससे पूर्व ट्रस्ट की ओर से जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित और जिला पुलिस अधीक्षक जगदीश चन्द्र शर्मा का सम्मान किया गया। कार्यक्रम की प्रारंभ में ट्रस्टी कालीचरण खण्डेलवाल ने कालेडा ट्रस्ट की स्थापना और मानव सेवार्थ किए जा रहे कायोर्ं की जानकारी दी। उन्होने बताया कि अजमेर जिले के केकडी के निकट कालेडा गांव से कृष्ण गोपाल ट्रस्ट की शुरूआत हुई। अब तक तक एक करोड 40 लाख से अधिक लोग कालेडा की आयुर्वेदिक दवाईयों का उपयोग कर स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर चुके हैं। ट्रस्ट की ओर से 70 बिस्तर का अस्पताल और 2 मोबाइल वैन का संचालन किया जा रहा है। साथ ही जरूरतमंद लोगों को निरूशुल्क दवाईयां उपलब्ध कराई जा रही हैं। इसके बाद सम्मान समारोह की कडी में सबसे पहले जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित का सम्मान किया गया। ट्रस्ट के सदस्य रत्न मिश्रा ने मालापहनाकर उनका सम्मान किया। इसके बाद राव वीरभद्र सिह ने च्यवनप्राश भेट किया। ऋतिका राठौड ने शॉल ओढाकर उनका अभिनंद किया। ट्रस्ट की ओर से स्मृति चिन्ह भेट किया गया। इसी कडी में जिला पुलिस अधीक्षक जगदीश चन्द्र शर्मा का अभिनंद भी किया गया। उन्होंने भी माला पहनाकर, शॉल, श्रीफल देकर स्मृति चिन्ह भेंट किया। एसपी ने बताया कि पुलिस ने सड़क दुर्धटनाओं में कमी लाने के लिए हैलमेट की अनिवार्यता लागू कर दी है। महिला के प्रति बढते अपराधों की रोकथाम के लिए भी विशेष प्रयास किए जा रहे हैं।

इस अवसर पर ट्रस्ट के अध्यक्ष दीनबंधु चौधरी ने कहा कि यह ट्रस्ट मानव सेवा के रूप में कई सारे कार्य कर रहा है। लोगों को निःशुल्क दवाईयां, चिकित्सा उपलब्ध कराई जा रही है। कालेडा के उत्पादों में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाता है। उन्होंने कहा कि शहर के विकास ने जिला कलक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित के मार्गदर्शन में गति पकडी है। एलिवेटिड रोड, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट, जयपुर रोड़ फौर लेन बनने, आनासागर झील के चारों तरफ वॉक-वे का निर्माण किया जा रहा है। यह सब कलक्टर श्री राजपुरोहित के व्यक्तिगत प्रयासों से संभव हो पा रहा है। वहीं पुलिस अधीक्षक श्री जगदीश चन्द्र शर्मा की कार्यशैली से आमजन में पुलिस के प्रति विश्वास पैदा हुआ है। उन्होंने दोनों अधिकारियों से कहा कि वह सरकारी योजनाओं को मूर्तरूप प्रदान करते हुए जनता के सामने एक उदाहरण प्रस्तुत करे।

 कार्यक्रम में डॉ. रत्न मिश्रा, वीर भद्र सिंह, ऋतिका राठौड़, कालीचरण खण्डेलवाल, एस.एन. गर्ग, श्याम सुंदर छापरवाल, मुकेश मीणा, जटाशंकर शर्मा, एडवोकेट एस.के.सक्सेना, सीए एस.एन ढाणी, सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। मंच संचालन सुरेन्द्र जोशी ने किया।

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

We are a non-profit organization, please Support us to keep our journalism pressure free. With your financial support, we can work more effectively and independently.
₹20
₹200
₹2400
विष्णु दत्त धीमान
नमस्कार, पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के लिए, सुझाव दें। आप Whatsapp पर सीधे इस खबर के लेखक / पत्रकार से भी जुड़ सकते है। धन्यवाद।