कॉलेज पर लगाया ताला : छात्राओं ने काले कपड़े पहनकर किया प्रदर्शन

Sutdents Protest in Jodhpur

जोधपुर। जोधपुर विकास प्राधिकरण के इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर के लिए राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज की करीब 40 बीघा जमीन आवंटित करने के खिलाफ छात्राओं का आंदोलन सोमवार को भी जारी रहा। जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय की जमीन आवंटन करने के विरोध के बाद सरकार ने पॉलिटेक्निक कॉलेज की करीब 40 बीघा जमीन का आवंटन कर दिया था।

इस पर अब राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज की छात्राएं आंदोलन कर रही है। छात्राओं ने सोमवार को काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन किया। उन्होंने कॉलेज के प्रवेश द्वार व विभिन्न संकायों में ताला लगा दिया।
बता दे कि जेडीए के इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर के लिए हाल ही में तीन फरवरी को सरकार ने एक आदेश जारी कर राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज की करीब 40 बीघा जमीन आवंटित करने का परिपत्र जारी किया था। सरकार के इस आदेश के साथ ही राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज की छात्राओं ने आंदोलन का आगाज कर दिया था।

पॉलिटेक्निक कॉलेज की छात्राओं ने इस संबंध में जनप्रतिनिधियों को भी ज्ञापन सौंपे है। छात्राओं का कहना है कि कॉलेज की जमीन कन्वेंशन सेंटर के लिए आवंटित करने के बाद एक तरफ छात्राओं की सुरक्षा पुख्ता नहीं रह पाएगी। वहीं इसके अलावा कॉलेज की अन्य गतिविधियां भी काफी सिमट जाएगी। छात्राओं का कहना है कि सरकार कन्वेंशन सेंटर के लिए राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज की जमीन को आवंटित करने का निर्णय वापस नहीं लेती, तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

कॉलेज की जमीन कन्वेंशन सेंटर को देने के विरोध में छात्राओं ने सोमवार को कॉलेज में तालाबंदी कर प्रदर्शन किया। छात्राओं ने तख्तियां लहराई एवं जमकर नारे लगाए। छात्राओं ने कहा कि यह कॉलेज परिसर की बंदरबांट है। मांगें नहीं सुनीं तो भूख हड़ताल करेंगी। छात्राओं ने बताया कि सॉफ्ट टारगेट होने के कारण यह जमीन ली जा रही है। कॉलेज को शहर से दूर नागौर रोड शिफ्ट का भी डर है। स्थानीय छात्राओं के लिए रोज कई किमी दूर शहर के बाहर जाना बड़ी परेशानी होगा। इससे एडमिशन पर भी फर्क पड़ सकता है।

We are a non-profit organization, please Support us to keep our journalism pressure free. With your financial support, we can work more effectively and independently.
₹20
₹200
₹2400
नमस्कार, हम एक गैर-लाभकारी संस्था है। और इस संस्था को चलाने के लिए आपकी शुभकामना और सहयोग की अपेक्षा रखते है। हमारी पाठकों से बस इतनी गुजारिश है कि हमें पढ़ें, शेयर करें, इसके अलावा इसे और बेहतर करने के लिए, सुझाव दें। धन्यवाद।